एशियाई खेलो का हुआ समापन , जाने कुल कितने पद पर जमाया भारत ने कब्ज़ा

0
403
Reading Time: 1 minute

एशियन गेम्सं 2018 का समापन बेहद ही शानदार रहा। भारत के खिलाड़ियों ने उम्मीद से बेहतर प्रदर्शन किया। एशियन गेम्स के अंतिम दिन अमित (49 किग्रा) ने मौजूदा ओलंपिक और एशियाई चैंपियन हसनब्वाय दुसमातोव को हराकर सोने का तमगा हासिल किया , इसके बाद पहली बार इन खेलों में शामिल किये गये ब्रिज के पुरुष युगल स्पर्धा में प्रणब बर्धन और शिबनाथ सरकार ने स्वर्ण पदक जीता। भारत ने इन खेलों में 15 स्वर्ण , 24 रजत , 30 कांस्य पदक हासिल किये जिसकी वज़ह से ये भारत का अब तक कि एशियन गेम्स में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा है इससे पहले 1951 में 15 सवर्ण और 2010 एशियाई खेलो में 14 स्वर्ण पदक हासिल किये थे।

प्रभातखबर.com

 

2018 एशियाई खेलो में भारत का एथलेटिक्स में शानदार प्रदर्शन किया , हालांकि लोगो ने इसकी उम्मीद नहीं कि थी पर कहते है न जिस बात कि उम्मीद न कि गयी हो वो अक्सर हो जाती है। एथलेटिक्स में 100 मीटर , 200 मीटर , भाला फेकनें वाली प्रतियोगिताओँ में सफल होना भारत के लिए एक अच्छी ख़बर हैं। 2018 एशियाई खेलो में शूटिंग की प्रतियोगिया में 16 वर्ष के लड़के ने स्वर्ण पदक अपने नाम किया सोंचिये 16 साल क्या उम्र होती है हम लोग 16 साल में क्या किये थे।

indiatoday.in

इस एशियाई खेलो में खिलाड़ियों , कोच और हमारे देश के खेल मंत्री राजवर्धन राठौड़ कि कड़ी मेहनत को साफ़ देखा जा सकता है ।

MidDay.com

इस समापन के बाद हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने सभी खिलाड़ियों को शुभकामनाएं दी।

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने कांस्य पदक के मैच में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को हराकर स्वर्ण पदक अपने नाम किया। कुश्ती में यदि सुशील कुमार के प्रदर्शन को छोड़ दें तो बाकी पहलवानों ने निराश नहीं किया मुक्केबाज भी स्वर्ण का स्वाद चख़ने में पीछे नहीं रहे, अमित पांघल और ब्रिज में पुरुष युगल जोड़ी ने स्वर्ण पदक के साथ शानदार खेल दिखाया उन्होंने विरोधियो को ये दिखा दिया कि हम कमजोर नहीं हैं। कबड्डी में इस एशियाई खेलो में पदक लेने में असफल रहे इससे पहले हमेशा महिला कबड्डी और पुरुष कबड्डी दोनों ने ही बहुत अच्छा प्रदर्शन करते थे पर इस बार ये न हो सका। इसके पीछे कोच की नियुक्ति बताई जा रही है सही समय पर ब्रेक न लेना , सीनियर खिलाड़ियों को मौका न देना कुछ इस तरह की बात सामने आ रही है जिसकी वज़ह से सोना हाथ से निकल गया। ईरान के खिलाड़ियो ने सोना जीता आपको ये जान कर आश्चर्य होगा कि उनकी कोच भारतीय थी उम्मीद है की अगली बार हमें कब्बडी के खिलाड़ियों से सोना अवश्य मिलेगा।

अगले एशियन गेम्स 2022 में चीन के हांगझोऊ में होंगे। इस शहर के प्रतिनिधि को अगले एशियन गेम्स की मशाल सौंपी गई।चीन ने अगले एशियन गेम्स की तैयारी कि एक झलक दिखाई और उससे बाद गायक बैंस व सैम सिंमाजतुक ने अपनी परफर्मेंस दी। इसके बाद गायक जीजी का जलवा स्टेज पर देखने को मिला और स्टेडियम में मौजूद दर्शक झूमते नजर आए।

TimesNow.com

एशियन गेम्स के समापन के दिन हिंदी गानों ने भी धूम मचाई बॉलीवुड के मशहूर गीत (कुछ कुछ होता है ,जय हो , कोई मिल गया) जैसे मशहूर गाने गाये गये लोगो ने इसका बखूभी आनंद भी उठाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here