जय श्रीराम का नारा लगाया और धराशायी कर दिया सार्वजनिक शौचालय

जय श्रीराम का नारा लगाया औऱ धराशायी कर दिया सार्वजनिक शौचालय
Reading Time: 3 minutes

यूँ तो जब भी राम को याद किया जाता है तो शांति ,सद्भाव और भाईचारे के लिए याद किया जाता है, राम का नाम कभी उत्पात के साथ नही जोड़ा जाता है। लेकिन उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में राम के नाम पर कुछ इसी तरह का तांडव सुनने और देखने में आया है।

यहां बजरंग दल के कुछ कार्यकर्ताओं ने जय श्रीराम के नारे के साथ सरकारी बस अड्डे के पास बने 40 साल पुराने एक टॉयलेट कांप्लेक्स पर हमला बोल दिया और चंद मिनटों में उसे धराशायी कर दिया। उनका कहना था कि ये शौचालय मंदिर की दीवार से सटा हुआ है। हालांकि यह टॉयलेट करीब 40 साल पुराना है जोकि मंदिर से कुछ फीट की दूरी पर बना हुआ है।

शौचालय की वजह से काफ़ी लोगों को थी सहूलियत-

मंदिर और शौचालय के बीच एक पतला सा रास्ता भी है। बस अड्डा होने की वजह से यहां बड़ी तादाद में मुसाफिर आते हैं। इसलिए अभी कुछ समय पहले ही इस पुराने शौचालय का कायाकल्प कर इसे राहगीरों के लिए बेहतर कर दिया गया ताकि उन्हें दिक्कतों का सामना न करना पड़े।

New Parliament House: नए संसद भवन के निर्माण कि मार्ग प्रशस्ति कई मुश्किलों का हल

बुधवार को दोपहर में करीब साढ़े ग्यारह बजे बजरंग दल के कार्यकर्ता “जय श्री राम” और “एक ही नारा एक ही नाम-जय श्री राम जय श्री राम” का उदघोष करते हुए बड़े-बड़े हथौड़े लेकर टॉयलेट काम्प्लेक्स पर टूट पड़े। उन्होंने यहां बने महिला शौचालय और दिव्यांग शौचालय भी तोड़ दिए।

हिन्दू महासभा के कार्यकर्ताओं ने 48 घण्टे का अल्टीमेटम दिया था-

अखिल भारत हिन्दू महासभा के पश्चिमी यूपी का अध्यक्ष बताने वाले विष सिंह कंबोज शौचालय के हमले का नेतृत्व कर रहे थे। उन्होंने मौके पर मीडिया से कहा कि, “दो दिन पहले हमारे जो हिन्दू योद्धा थे, वे आए थे और उन्होंने दो दिन, 48 घंटे का अल्टीमेटम दिया था।

शौचालय को वहाँ से हटवाने को लेकर, लेकिन वहां से कोई कार्रवाई नहीं हो पाई तो हम लोगों ने खुद ही डिसाइड किया कि इसे धराशायी अपने आप करेंगे।

स्थानीय लोग शौचालय पर हमला करने वालों के मुंह से युद्ध घोष के अंदाज़ में “जय श्री राम “के नारे सुनकर विचलित थे कि जैसे सही में कोई युद्ध सा छिड़ गया हो,मौके पर मौजूद सफाई सुपरवाइजर विमला बताती हैं कि “यह टॉयलेट 40 साल पुराना है और टॉयलेट मंदिर से काफी फासले पर बना है।

मंदिर और टॉयलेट के बीच में नाला भी है। हमने उन्हें तोड़ने को मना किया लेकिन नहीं माने। यहां बहुत भीड़ होती है। बहुत महिलाएं आती हैं। बताइए अब पब्लिक टॉयलेट के लिए कहां जायेगी। आदमी भले खुले में चले जाएं, लेकिन बताइए अब महिलाएं कहां जाएंगी?

प्रशासन बोला तोड़फोड़ करने वालो पर होगी कार्यवाही-

जब सहारनपुर के एसपी सिटी विनीत भटनागर से इस पूरी घटना के बारे में पूछा गया तो उन्होंने मीडिया से कहा कि,”रोडवेज के लोगों से पता चला है कि यह टॉयलेट बहुत पुराना है। अभी उसका रेनोवेशन हुआ था। जिन लोगों ने उसे ध्वस्त किया है, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

“किस्सा” माउंट एवरेस्ट की नाप और उसके किरदार का

| Voxy Talksy Hindi |
| Voxy Talksy Youtube |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here