जाने क्यों वायरल हो रही है भूटान के प्रधानमंत्री और उनकी पत्नी की तस्वीर और क्यों वो एक मोहब्बत की मिसाल के रूप में देखे जा रहे हैं ?

BBC.com
Reading Time: 2 minutes




बॉलीवुड का एक बहुत ही मशहूर गाना जिसे मुकेश जी ने गाया था ”चाँद सी महबूबा हो मेरी कब ऐसा मैंने सोचा था ,हाँ तुम बिलकुल वैसी हो जैसा मैंने सोचा था” जी है इस गाने के बोल हमारे पडोसी देश भूटान के पूर्व प्रधानमंत्री शेरिंग तोगबे पर बेहद निर्भर करते है । आप ये सोच रहे होंगे की मैं ऐसा क्यू बोल रहा हूँ ?
तो आईये आपको बताते हैं –
भूटान के पूर्व प्रधानमंत्री शेरिंग तोगबे ने सोशल मिडिया पर अपनी और अपनी पत्नी कि एक तस्वीर साझा की है, जिसमे वे अपनी पत्नी ताशी दोमा को अपनी पीठ पर उठाये सड़क पर चलते दिखाई दे रहे हैं उन्होंने अपनी पत्नी को इसलिए उठाया है क्यूंकि सड़क पर कीचड़ है और वो नहीं चाहते कि उनकी पत्नी के पैर गंदे हो। भूटान के पूर्व प्रधानमंत्री के सन्देश ने यह साबित कर दिया है कि उनका देश भले ही गरीब हो पर वे प्यार के मामले में और देशो से अमीर हैं। इस तस्वीर के साथ उन्होंने कैप्शन दिया है कि, ‘सर वाल्टर रैले की तरह डैशिंग तो नहीं, लेकिन अपनी पत्नी के नाजुक पैरों को साफ रखने के लिए एक आदमी को वहीं करना चाहिए जो उससे उम्मीद है’।

सर वाल्टर और एलिजाबेथ की कहानी-

कहा जाता है कि सर वॉल्टर रेलीघ ने एक बार क्वीन एलिजाबेथ के पैर गंदे न हों, इसलिए अपने पहने कपड़ों को कीचड़ से भरे रास्ते में डाल दिए थे. वह क्वीन के सबसे भरोसेमंद लोगों में से एक थे. हालांकि बाद में उन्हें एक मेड के साथ अफेयर के कारण सजा सुनाई गई और उनका सिर कलम कर दिया गया।

इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर काफी शेयर किया जा रहा है बहुत से लोग इनकी तारीफ करते नहीं थक रहे। अपनी पत्नी के लिए किये इस काम को लोग मोहब्बत की मिसाल के रूप में देख रहे है। वायरल हो रही दोनों की प्यारी जोड़ी और केमिस्ट्री की लोग जमकर तारीफ कर रहे हैं। कई लोगों ने तो फोटो को रिट्वीट करते हुए फोटो की तुलना 90 के दशक के धारावाहिक फ्रेंड्स से की है।
शेरिंग तोबगे जुलाई 2013 से 9 अगस्त 2018 तक भूटान के प्रधानमंत्री रहे। इसके साथ ही शेरिंग तोबगे पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के सह-संस्थापक भी हैं।




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here