Reading Time: 1 minute

नयी दिल्ली का जंतर मंतर सत्ता के खिलाफ आवाज़ उठाने और अन्य धरने प्रदर्शन का केंद्र रहा है। इसी कड़ी में आज चंद्र शेखर आज़ाद रावण ने हुंकार रैली में प्रधानमंत्री मोदी से लेकर अखिलेश यादव तक पर निशाना साधा। 

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले मेरठ अस्पताल में भर्ती चंद्रशेखर से प्रियंका गाँधी मिलने आई थीं। इसके बाद आज की रैली को मीडिया की कुछ ज्यादा कवरेज मिली। 

 और क्या कहा रावण ने ?

  • रैली को सम्बोधित करते हुए रावण ने लोगों को रोहित वेमुला की शहादत को न भूलने की गुज़ारिश की। 
  • इसके अलावा ऊना , शब्बीरपुर और फगवाड़ा के बारे में भी लोगों को याद दिलाया। 
  • आज़ाद के मुताबिक अत्याचारी,अत्याचारी ही रहेंगे। 
  • यदि आज चूक हुई तो बहुत पीछे चले जाएंगे। 
  • जब उन्होंने बनारस से चुनाव लड़ने की घोषणा की तो मोदी जी ने पैर धोए। 
  • यह लड़ाई 15 % बनाम 85 % है। 

चार “अ “

आज़ाद ने कहा मनुवादी तंत्र चार ‘अ’ पर टिका है- असमानता, असत्य , अन्याय और अपमान। इसको काउंटर करने के लिए और बहुजन सरकार बनाने के लिए भी चार ‘अ’ को इक्कठा होना पड़ेगा। अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक।      

बनारस से निर्दलीय लड़ेंगे चुनाव 

आज़ाद ने आधिकारिक रूप से यह एलान किया वो बनारस से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे। उनका कहना थे कि वे कोई सुरक्षित सीट से भी चुनाव लड़ सकते थे। 

महगठबंधन पर कमेंट 

अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि पिछली सरकार में लाखों अनुसूचित जाति के कर्मचारी डिमोट हुए थे। इस बात पर अखिलेश यादव कुछ नहीं बोले थे। गौरतलब है कि सहारनपुर से मायावती और अखिलेश यादव अपनी पहली संयुक्त रैली करेंगे। 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here